Search This Blog

Wednesday, April 12, 2017

रोज़ाना : शीघ्र सेहतमंद हों अमित जी



रोज़ाना/अजय ब्रह्मात्‍मज
शीघ्र सेहतमंद हों अमित जी
हर रविवार की शाम को प्रशंसक और दर्शक खिंचे चले आते हैं। धीरे-धीरे व्‍यक्तियों का समूह बढ़ता और और एक भीड़ में तब्‍दील हो जाता है। यह भीड़ अपने प्रिय अभिनेता की एक झलक और विनम्र नमस्‍कार पाने के लिए उतावली रहती है। मुंबई के उपनगर जुहू के इलाके में हर रविवार को लोगों का हुजूम अमिताभ बच्‍चन के नए आवास जलसा के सामने एकत्रित होता है। पिछले कई सालों से यह सिलसिला चल रहा है। अगर अमिताभ बच्‍चन मुंबई में हों तो वे बिना नागा हाजिर होते हैं। लकड़ी के बने अस्‍थायी चबूतरे पर खड़े होकर वे सभी का अभिवादन स्‍वीकार करते हैं। पिछले रविवार 9 अप्रैल को अस्‍वस्‍थ होने की वजह से वे अपने प्रशंसकों से मुखातिब नहीं हो सके। उन्‍हें इसका अफसोस रहा और उन्‍होंने ट्वीटर,ब्‍लॉग और फेसबुक पर अपने विस्‍तारित परिवार(एक्‍सटेंडेड फमिली) से माफी मांगी।
इस साल अक्‍तूबर में 75 के हो रहे अमिताभ बच्‍चन कई पहलुओं से मिसाल हैं। हिंदी फिल्‍म इंडस्‍ट्री के सक्रिय कलाकारों में से एक अमिताभ बच्‍चन के दायित्‍व,कर्तव्‍य और मंतव्‍य को देख-सुन कर अचरज ही होता है कि वे कैसे इतने अलर्ट और जागरूक बने रहते हैं। पिछले रविवार को उनके पेट में इंफेक्‍शन हो गया था। सभी जानते हैं कि उनका पेट इंफेक्‍टेड है और खान-पान में उन्‍हें संयम का पालन करना पड़ता है। कहते हें न,ंहम सभी के अंदर मानवोचित गुण्‍-अवगुण होते हैं,जो सारे आवरण,मास्‍क और प्रतिष्‍ठा के बावजूद जाहिर हो जाते हैं। जी हां,अमिताभ बच्‍चन ने मिर्चीदार पित्‍जा खा लिया था। यकीनन उन्‍हें अपने परिजनों से डांट भी पड़ी होगी,लेकिन यह कितना स्‍वाभाविक है। याद करे,हमारे घरों के बुजुर्ग भी कैसे परहेज का उल्‍लंघन करते हैं और बीमार पड़ जाते हैं। अमिताभ बच्‍चन के साथ भी यही हुआ।
बहाहाल,अभी वे स्‍वस्‍थ हैं। हम तो यही चाहेंगे कि वे जल्‍दी से जल्‍दी सेहतकुद होकर काम पर लौटें। अपने विस्‍तारित परिवार से मिलें। अगले रविवार 16 अप्रैल को प्रशंसकों से मिलें। अमिताभ बच्‍चन की रामगोपाल वर्मा निर्देशित सरकार 3 अगले माह आ रही है। अमिताभ बच्‍चन पुराने आक्रोशित तेवर के साथ दिखेंगे। वे जल्‍दी ही आमिर खान के साथ अगली फिल्‍म की शूटिंग आरंभ करेंगे। हाल ही में हमने नीतेश तिवारी निर्देशित ठंडे तेल की एक ऐड फिल्‍म में उनका खिलंदड़ रूप देखा।
@brahmatmajay

No comments: